किसी के दिल में जगह बनाने की दुआ

किसी के दिल में जगह बनाने की दुआ


किसी के दिल में जगह बनाने की दुआ – Kisi Ke Dil Me Jagah Banane Ki Dua, Wazifa, Tarika, Hindi, Urdu, दोस्तों कभी कभी ऐसे भी पल आते है की की आप चाहते हो की किसी के दिल मे आप अपनी जगह बना ले, इसलिए आज हम आपको किसी के दिल में प्यार जगाने का वजीफा बता रहे है. यदि आप किसी का दिल जितना चाहते है तो आप इस्तेमाल करे हमारा किसी का दिल जीतने की दुआ और यदि आप शोहर को अपना बनाना चाहते है तो आप इस्तेमाल करे हमारा शोहर के दिल में जगह बनाने का वजीफा।

Kisi Ke Dil Me Jagah Banane Ki Dua

अगर आप भी अपने लिए किसी के दिल में जगह बनाना चाहते हैं।अगर इस तरह का कोई भी ख्याल आपके दिमाग में है।कि आप अपने अजिजू के दिलमेंजगह बनाना चाहते हैं।उसको अपने लिए और अपने लिए उसको खास बनाना चाहते है।

तो यह वजीफा आपके लिए मुज़रीबहै।इसअमल से आप किसी के भी दिल में आसानी से जगह बना सकते है।अपने हक के लिए उसके दिल में जगह बना सकते हैं।अगर आपका कोई मतलूब आप से नाराज है लेकिन वह आपको बहुत अजीब है।आप तरह-तरह की कोशिश कर रहे उसको अपना बनाने के लिए तो इस अमल को एक बार जरूर करें।

किसी के दिल में जगह बनाने की दुआ – Kisi Ke Dil Me Jagah Banane Ki Dua, Wazifa, Tarika, Hindi, Urdu

और अपने मतलूब को अपने करीब कर उसके दिल में अपनी मुक्तसर जगह को हासिल करें।एक क़ुरानीअमल है।इस अमल को करने के लिए आपको एक कुरानी आयत की तिलावत करना है।इस अमल को करने के लिए सबसे पहले आप दरूदशरीफ पढ़िए।

हुजूरे पाक सल्लल्लाहो ताला वसल्लम अल्लाह के रसूल का वास्ता दें।उसके बाद अमलकी शुरुआत करें और जो दरूद शरीफ आपने पहली बार पढ़ा था उसकोएक बार आखिरमें भी पढ़े।सूरह कुरैश का आसान अमल है।

واللهالرحمنالرحيمالکےنامسےشروعجونہایتمہربانہمیشہرحمفرمانےوالاہےلايلفقبيشالمحلةالتاءاليفةقليحبوابهذاالبيتالنأعبهمتمنپسنہیںچاہئےکہاسگھر)خانہکعبہ( رکیعبادتکریںتاکہاسکیشکرگزاریوہجسنےنہیںجواینفقروفاتهجُوعامهممنخوفين

सुरह कुरैश तीन बार पढ़ना है और अपने मतलूबपरदम करना है।फिर आप उसके दिल में अपनी जगह बनाने में कामयाब होंगे।

किसी के दिल में प्यार जगाने का वजीफा

किसी के दिल में प्यार जगाने का वजीफा – Kisi Ke Dil Mein Pyar Jagane Ka Wazifa, Dua, Tarika, Hindi, Urdu, किसी भी रिश्ते की मोहब्बत हासिल करने के लिए यह दिल में प्यार पैदा करने के लिए आप इस वजीफे को कर सकते है।जैसे महबूबमां बाप भाई बहन दोस्त अहबाब आसपास के पड़ोसी रिश्तेदार वगैरा वगैरा इन सभी के दिलों में प्यार जगाने का यह आसान और जल्दी असर करने वाला वजीफा है।

इंशाल्लाह जब आप इस वजीफे को करेंगे तो कामयाबी जरूर हासिल होगी।आप इस वजीफे को किसी भी वक्त कर सकते हैं।यह बेहद ही असरदार वजीफा है। इसमें वक्त कोई मुकर्रर नहीं है फिर भी आप जब इसको आजमाएं गे तो यकीनन कामयाबी हासिल करेंगे।

आपको इस वजीफे के लिए अल्लाह ताला काइस्मग्रामी को मोहब्बत के लिए पढ़ना है।यह इस्म मुबारक यह है यावादुदोयाकादरो। लेकिन इस इस्म मुबारक को आपको सूरह इखलास के साथ पढ़ना है।बिस्मिल्लाह शरीफ के साथ आपको सूरह इखलास कोपढ़ना है

Kisi Ke Dil Mein Pyar Jagane Ka Wazifa

قلهواللهاحداللهالصمدليلتولمولوليكنلهلفواحد

सूरह इखलास को आपकोसात मर्तबा मुकम्मल तारिके से से पढ़ना है।फिर अल्लाह रब्बुल इज्जत का इस्म मुबारक आपको 11 मर्तबा पढ़ना है।आप जिस रिश्ते के लिए इस वजीफे को करना चाहते हैं।उस इंसान का तसव्वर अपने दिमाग में ज़हन में रखें।

अपने रिश्ते के लिए अल्लाह रब्बुल इज्जत कीबारगाह इलाही में दुआ करें।कीअल्लाह ताला उसके दिल में प्यार जगाने की तौफीक अता फरमाए।इसवजीफे को आप सिर्फ और सिर्फ अपने जायज़ मकसद को नजर में रखकर करें।किसी भी नाजायज मकसद के लिए करेंगे तो उसके जिम्मेदार आप खुद होंगे।

शोहर के दिल में जगह बनाने का वजीफा

शोहर के दिल में जगह बनाने का वजीफा – Shohar Ke Dil Me Jagah Banane Ka Wazifa, Dua, Tarika, Hindi, Urdu, हरखातून के दिल में हमेशायहख्वाहिश रहती हैं।कि वह अपने शौहर के दिल में जगह बना सकें।इसके लिए वह अपनी हर कोशिशों को बखूबी निभाती हैं।लेकिन बाज़ हालात ऐसे पैदा हो जाते हैं।कि शौहर के मिजाज में बेइंतेहा तब्दीलियां आ जाती है।

जिसकी वजह से उनका उखड़ा उखड़ा बर्ताव देखने को मिलता है।जिससे खातून बहुत ज्यादा परेशान रहती हैं।दिल और दिमाग को उनके सुकून जरा सा भी हासिल नहीं होता है।ऐसी बेफिक्री हालत में वह अपनी जिंदगी को गुज़ाराकरती हैं।और अपने हालातों से लड़ने के लिए रास्ते तलाश करने लगती हैं।

Shohar Ke Dil Me Jagah Banane Ka Wazifa

कुछ रास्ते अच्छे होते है कुछ खराब।लेकिन इस सब चीजों को आप को नजरअंदाज कर शोहर की मोहब्बत पाने के लिए यहमुजरिबवजीफा करना चाहिए।ताकि आपके शौहर आपसे बेपनाह मोहब्बत करें और आप उनके दिल में जगह बना कर शहजादीकी तरह रहे।

जो कि हर बीवी का हक होता है कि वह अपने शौहर के घर से लेकर उसके दिल तक एक शहजादी की तरह जिंदगी गुजारे।इसके लिए यह वजीफा अपने अमल में जरूर ले।यह वजीफा आयत पर मुकर्रर है।इस वजीफे को आपको रात में करना है बहनों को चाहिए कि इस आयत को वह रात को पढ़ कर सो जाए।

इशा अल्लाह अल्लाह ताला के रहमों करम से वह खुद इस वजीफे का असर देखेंगी।कि उनके शौहर किस तरह से उनकी बात मानने लगे है।जो यह वजीफा करेंगी वह इससे फायदे इंशाल्लाह जरूर यकीनन हासिल करेंगी।वजीफा सूरह रहमान की आयत का है।सूरह रहमान की आयत नंबर 32 का वजीफा है। فبأيآلاءربكماتكذبان इस आयत को तीन बारपढ़कर दम करना है।

किसी का दिल जीतने की दुआ

किसी का दिल जीतने की दुआ – Kisi Ka Dil Jitne Ki Dua, Wazifa, Tarika, Hindi, Urdu, अगर आप भी अपने लिए किसी के दिल में बेपनाह इज्जत मोहब्बत प्यार जैसी ख्वाहिशों को जिंदा रखते हैं।तो इसके लिए हमारी बताए हुए इस अमल को जरूर अपने अख्तियार में ले।यह बहुत ही आसान और बेहद ही फायदेमंद जल्दी असर करने वाला अमल है।

इसकी कामयाबी हंड्रेड परसेंट होगी।और इसको करने वाला इंसान दिल में मोहब्बत हासिल कर लेगा।अमल जल्द से जल्द असर होगा और आप उसके लिए बेपनाह मोहब्बत पासकते हैं।जिसके लिए आप इस वजीफे को करने की तलब कर रहे हैं।

इस अमल को करने के लिए आप अपनी नियत को बिल्कुल साफ रखें।अपने नेक मकसद के लिए इस अमल को करें।जिससे आप अल्लाह रब्बुल इज्जत की तरफ से कामयाबी हासिल कर सकें।और अपने जायज़ रिश्ते के लिए इस अमल को करें।

रिश्ता चाहे कोई भी हो किसी भी रिश्ते के दिल में अगर उस शख्स के दिल में आपको अपने लिए में मोहब्बत पैदा करना उस शख्स को जीतना है तो इस अमल को करें।अमल कोबाद नमाज असर के शुरू करना है।

Kisi Ka Dil Jitne Ki Dua

अमल को तरतीब से करने की तफसील यह है।सबसे पहले असरकी नमाज अदा करें।पाक साफ रहे अगर आपको उसीजगह परइस अमल को करना है तो कर सकते हैं।अमल के लिए सबसे पहले आपको 11 बार दरूद शरीफ पढ़नी है जो भी आपको याद है दरूद इब्राहिमी ज्यादा बेहतर है।

फिर आपको 111 बार या हलीमो का विरृध करना है।यह अल्लाह रब्बुल इज्जत काइस्ममुबारक है आप इस की तिलावत करें।फिर आखिर में 11बार दरूद शरीफपढ़नाहै।इस अमल को आप को मुकम्मल 40 दिनों तक लगातार करते रहना है।

इंशाल्लाह इसकी बरकतआप खुद देखेंगे।आप जिस शख्स के भी दिल में अपनी जगह बनाना चाहते हैं।या फिर उसको जीतना चाहते हैं तो यकीनन अल्लाह ने चाहा तो कामयाब होंगे।

किसी को वापस बुलाने का वजीफा

किसी को वापस बुलाने का वजीफा


किसी को वापस बुलाने का वजीफा – Kisi Ko Wapas Bulane Ka Wazifa, Totka, Upay, Amal, Tarika, Taweez, Ubqari, Dua, दोस्तों यदि कोई आपसे रुठ कर या बिछुड़ कर चला गया है तो आप चिंता न करे, आज हम आपके लिए लेकर आये है घर से भागे हुए को वापस बुलाने का वजीफा और किसी को दिल से बुलाने का वजीफा। इस वज़ीफ़े को महबूब को वापस बुलाने का वजीफा भी कहा जाता है.

Kisi Ko Wapas Bulane Ka Wazifa

इस दुनिया में किस व्यक्ति के दिमाग में कब कौन-सा ख्याल आ जाए ये केवल वही व्यक्ति जानता है या अल्लाह जानता है। अक्सर ऐसा होता है कि हमारा अपना कोई करीबी व्यक्ति हमसे दूर चला जाता है। ऐसे व्यक्ति को वापस बुलाने के लिए आप किसी को वापस बुलाने का वजीफा पढ़ सकते है।

किसी को वापस बुलाने का वजीफा – Kisi Ko Wapas Bulane Ka Wazifa, Totka, Upay, Amal, Tarika, Taweez, Ubqari, Dua

इस वजीफे की मदद से वह व्यक्ति दुनिया के किसी भी कोने में क्यों ना हो, वापस जरूर लौट आएगा। यदि आपका भी कोई दोस्त, महबूब, बेटा, बेटी, पति, पत्नी, प्रेमी या अन्य कोई भी व्यक्ति आपसे दूर चला गया है और आप उसे अपने पास वापस बुलाना चाहते है तो एक बार किसी को वापस बुलाने का वजीफा अवश्य अपनाएं।

हमारा दावा है कि हमारे द्वारा बताए गए सभी वजीफे असरदार है और बहुत जल्द आपका मुराद पूरी कर देंगे।

किसी को वापस बुलाने का वजीफा जो हम आपको बता रहे है, वह बहुत ही सरल है और आप घर पर खुद इस वजीफे को कर सकते है। इसके लिए सबसे पहले एक सफेद कागज लें जो तीन इंच चौड़ा और तीन इंच लंबा होना चाहिए। इस कागज पर आपको उस व्यक्ति का नाम लिखना है, जिसे आप वापस बुलाना चाहते है। इसके साथ ही उसकी माँ का नाम भी कागज पर लिख दें। अब कागज के चारों कोनों में किसी को वापस बुलाने का वजीफा लिखें –
बिस्मिल्लाह हिर्र रहमान निर्रहीम

किसी को वापस बुलाने का वजीफा के लिए अब आपको उस कागज में एक धागा बांधकर घर के बाहर लटका देना है। इस वजीफे से वह व्यक्ति जहाँ कहीं भी होगा आपकी ज़िन्दगी में वापस आ जाएगा।

महबूब को वापस बुलाने का वजीफा

महबूब को वापस बुलाने का वजीफा – Mahaboob Ko Wapas Bulane Ka Wazifa, Totka, Upay, Amal, Tarika, Taweez, Ubqari, Dua, आमतौर पर ऐसा देखा जाता है कि प्यार-मोहब्बत के रिश्तों में छोटी-छोटी बातों को लेकर तकरार आ जाती है। यदि आप किसी से सच्ची मोहब्बत करते है तो ऐसी छोटी बातों को नज़रअंदाज़ करने की आदत डाल लीजिए।

कई बार हमारी कोई छोटी गलती या किसी गलतफहमी के कारण हमारा महबूब हमसे रूठ जाता है। जो लोग अपने महबूब से सच्चा प्यार करते है, वे उसके बगैर अपनी ज़िन्दगी की कल्पना भी नहीं कर सकते है। ऐसे में अपने महबूब को वापस बुलाने के लिए महबूब को वापस बुलाने का वजीफा का इस्तेमाल किया जा सकता है।

Mahaboob Ko Wapas Bulane Ka Wazifa

  • यदि आपका भी प्रेमी (या प्रेमिका)आपसे दूर चला गया है तो आप ये महबूब को वापस बुलाने का वजीफा अपना सकते है। इस वजीफे के लिए सबसे पहले ताजा वुज़ू बना ले और अपने महबूब की तस्वीर अपने सामने रखकर बैठ जाएं। यह वजीफा आपको रात में 11 बजे के बाद अपनाना है। महबूब को वापस बुलाने का वजीफा में सबसे पहले 7 बार दुरूद ए पाक पढ़े।
  • इसके बाद 7 मरतबा सुरह यासीन पढ़े और आखिर में 7 बार दुरूद ए पाक फिर से पढ़े। महबूब को वापस बुलाने का वजीफा में अब आपको अल्लहा से अपने महबूब को वापस बुलाने की दुआ करनी है।

अब एक लाला धागे पर दम करके अपने सामने रखी तस्वीर पर बांध दें। महबूब को वापस बुलाने का वजीफा की मदद से मात्र सात दिन में आपका महबूब आपकी ज़िन्दगी में वापस आ जाएगा।

घर से भागे हुए को वापस बुलाने का वजीफा

घर से भागे हुए को वापस बुलाने का वजीफा – Ghar Se Bhage Hue Ko Wapas Bulane Ka Wazifa, Totka, Upay, Amal, Tarika, Taweez, Ubqari, Dua, कई बार हमारे परिवार का कोई सदस्य किसी बात से नाराज़ होकर घर से भाग जाता है। अक्सर बच्चे अपने माता-पिता की डांट से परेशान होकर या फिर पढ़ाई में कम नंबर आने के कारण घर से भागने का फैसला कर लेते हैं।

वहीं कई बार कुछ बड़े-बुज़ूर्ग लोगों को अपने बहू-बेटों की बात का बुरा लग जाता है। उनकी कही बात वे दिल में बैठा लेते हैं और घर से भाग जाते हैं।

लेकिन सच्चाई तो ये है कि कोई भी करीबी व्यक्ति हमारी भलाई के लिए हमे डांटता है और अपना समझकर ही कुछ भी बोलता है।

ऐसे में घर से भागने का फैसला उचित नहीं है। इसके बावजूद यदि आपके घर का कोई सदस्य भाग गया है तो आप घर से भागे हुए को वापस बुलाने का वजीफा अपना सकते हैं।

Ghar Se Bhage Hue Ko Wapas Bulane Ka Wazifa

  • घर से भागे हुए को वापस बुलाने का वजीफा के लिए आप रविवार के दिन बाज़ार से एक नया ताला खरीद कर लें आए। अब रात को 12 बजे आपको कब्रिस्तान जाना है और वहाँ जाकर घर से भागे हुए को वापस बुलाने का वजीफा करना है। सबसे पहले ताले पर उस भागे हुए व्यक्ति का पूरा नाम और जन्म की तारीख लिख दें।
  • घर से भागे हुए को वापस बुलाने का वजीफा के लिए अब 11 बार दुरूद ए शरीफ पढ़े और चाबी की मदद से ताला बंद कर दें। अब उस ताले को हवा में ऊँचा उछाल दे और भागकर कब्रिस्तान से बाहर निकल जाएं।

ध्यान रखिए वह ताला आपको हवा की दिशा में घूमाकर उछालना है। घर से भागे हुए को वापस बुलाने का वजीफा में जैसे वह ताला घूमकर नीचे गिरेगा, उसी तरह घर से भागा हुआ वह व्यक्ति भी घूमता हुआ सीधा घर लौट आएगा।

किसी को दिल से बुलाने का वजीफा

किसी को दिल से बुलाने का वजीफा – Kisi Ko Dil Se Bulane Ka Wazifa, Totka, Upay, Amal, Tarika, Taweez, Ubqari, Dua, यदि हम कोई चीज या किसी व्यक्ति को दिल से चाहते है तो वह हमे जरूर नसीब हो जाती है, बशर्ते आपके अंदर खुदा के प्रति विश्वास होना जरूरी है।

जो व्यक्ति अल्लाह ताला की ताकत पर भरोसा रखता है उसे अपनी ज़िन्दगी में सभी मनचाही वस्तु प्राप्त होती है। कई बार हम किसी व्यक्ति को दिल से चाहते है, लेकिन वह हमारे करीब आने की बजाय लगातार दूर चली जाती है।

ऐसे में आप किसी को दिल से बुलाने का वजीफा की मदद से उस व्यक्ति को अपने करीब बुला सकते है। अगर आप किसी से निकाह करना चाहते है या फिर दोस्ती के लिए किसी को करीब बुलाना चाहते है तो किसी को दिल से बुलाने का वजीफा का इस्तेमाल कर सकते है।

Kisi Ko Dil Se Bulane Ka Wazifa

किसी को दिल से बुलाने का वजीफा के इस्तेमाल के लिए मौलवी साहब या ईमाम से इजाजत लेना जरूरी है। यह वजीफा कभी भी गलत मकसद से नहीं करना चाहिए।

यदि आपका कोई व्यक्ति आपसे रूठ गया है और आपके मनाने के बावजूद वह व्यक्ति वापस नहीं आ रहा है तो किसी को दिल से बुलाने का वजीफा की मदद ले सकते है।

इसके अलावा यदि किसी का अपहरण हो गया है या फिर कोई घर से भाग गया है तब भी आप किसी को दिल से बुलाने का वजीफा अपना सकते है। साथ ही इस प्रकार की किसी भी समस्या के समाधान के लिए आप हमसे भी संपर्क कर सकते हैं।

किसी के दिल में मोहब्बत पैदा करने के लिए वजीफा

किसी के दिल में मोहब्बत पैदा करने के लिए वजीफा


किसी के दिल में मोहब्बत पैदा करने के लिए वजीफा – Kisi Ke Dil Mein Mohabbat Paida Karne Ke Liye Wazifa, Dua, Amal, यदि आप किसी भी लड़के या लड़की या कोई भी जिसके दिल मे आप मोहब्बत जगाना चाहते है तो हम आज आपको महबूब के दिल में मोहब्बत पैदा करने का वजीफा बता रहे है. इसके अलावा आज हम आपको दुश्मन के दिल में मोहब्बत पैदा करने का वजीफा और सास के दिल में मोहब्बत पैदा करने का वजीफा भी बतायेगे

Kisi Ke Dil Mein Mohabbat Paida Karne Ke Liye Wazifa

परिवार-समाज में सभी रिश्ते-नाते मोहब्बत की बुनियाद पर ही टिके होते हैं। कोई किससे कितना प्यार करता है, और किसके दिल में कैसी बेशुमार मोहब्बत है, इसका अंदाजा लगाना आसान नहीं होता।

जबकि किसी व्यक्ति के दिल में बेमिसाल मोहब्बत अवश्य पैदा की जा सकती है। हर महबूब अपनी महबूबा के दिल में मोहब्बत पैदा करने की कोशिश करत है, तो किसी महबूबा की एकमात्र ख्वाहिश होती है कि उसका मेहबूब उसे बेइंतहा प्यार करे।

किसी के दिल में मोहब्बत पैदा करने के लिए वजीफा- Kisi Ke Dil Mein Mohabbat Paida Karne Ke Liye Wazifa, Dua, Amal

मिंया-बीवी हों, सास और बहू हों या फिर परिवार के दूसरे सदस्य, हर किसी के दिल में बना एक-दूसरे के प्रति प्रेम ही परिवार और समाज में परंपरागत संस्कार व मान-मर्यादा को बढ़ाने में सहायक बनता है।

यह सर्वमान्य है कि मोहब्बत में खुदा का वास होता है। इंसान उसी खुदा की खिदमत कर हर किसी के दिल में भी मोहब्बत की अलख जगा सकता है। इस्लाम में किसी की मोहब्बत हासिल करने से लेकर दूसरे के दिल मंे मोहब्बत पैदा करने के लिए सच्चे मन से अल्लाह के इबादत की सलाह दी गई है।

कुरान-ए-पाक में कई आयतें हैं, जिन्हें कायदे से पढ़ने पर उसका असर एक बेहतरीन वजीफे की तरह होता है। इन दुआओं से सगे-संबंधी और हितैषी क्या, दुश्मन तक के दिल में मोहब्बत पैदा की जा सकती है। वह वजीफा इस प्रकार हैः-

नादे अलिय्यम-मजहरल अजाइबी अवनल्ल्का फिन्नवाइबी कुल्लू हम्मिंव व ग़म्मिन स यनजली बिरहमतिका या अल्लाहू बिनबूव्वतिका या मुहम्मदु सूलल्लाही वबी विला यातिका या अलिय्यु, या अलिय्यु, या अलिय्यु

महबूब के दिल में मोहब्बत पैदा करने का वजीफा

महबूब के दिल में मोहब्बत पैदा करने का वजीफा – Mahaboob Ke Dil Mai Mohabbat Paida Karne Ka Wazifa, Dua, Amal, यदि कोई लड़की किसी लड़के को बेहद पसंद करती है, और उससे बेपनाह मोहब्बत कर बैठती है तब उम्मीद करती है कि उसका महबूब भी उसे बहुत प्यार करे।

जबकि कोई जरूरी नहीं कि वह लड़का भी उससे मोहब्बत करे। लड़की द्वारा सुंदरता और आचार-व्यवहार से प्रेमी को रिझाने की कोशिशें जब बेकार हो जाती है तब उसे इस्लामी वजीफे का सहारा लेना चाहिए, ताकि अपने महबूब के दिल में मोहब्बत पैदा कर सके।

डेटिंग पर जाने, सोशल साइटों पर आकर्षक शेरो-शायरी के साथ चैटिंग और फोन पर बातें करने, या फिर तारीफों का पुल बांधने जैसे कामों में वजीफे की दुआएं काफी सहायक बनती हैं। वजीफा ठीक से तभी काम करता है जब उसे आप खुद के दम पर इस्लामी तरीके के साथ पढ़ते हैं।

Mahaboob Ke Dil Mai Mohabbat Paida Karne Ka Wazifa

  • महबूब के दिल में मोहब्बत पैदा करने वाले को चाहिए कि वह ऊपर दिए गया वजीफा सुबह साढ़े 11 बजे तक चाश्त के वक्त में पढ़े।
  • शुरूआत किसी भी जुमे के रोज यानी शुक्रवार के दिन से की जा सकती है। पाक-साफ होकर पहले वुजू बना लें। फिर फज्र से चाश्त के दरम्यान 47 मरतबा वजीफा ‘नाद-ए-अली को पढ़ें।
  • उसके बाद अपने महबूब से फोन पर बातें करें, या मिलने के वास्ते मैसेजिंग दें। आप पाएंगे कि माशूक मोहब्बत का दीवाना बन हैरान-परेशान होकर मिलने के लिए बेकरार हो जाएगा। महबूब से बात नहीं कर पाने की स्थिति में उसकी तस्वीर पर दम कर सकते हैं।
  • इस वजीफे को हैज या माहवारी के दिनों को छोड़कर हर जुमे के रोज पढ़ा जा सकता है। इसकी कोई मियाद नहीं होती है।

दुश्मन के दिल में मोहब्बत पैदा करने की दुआ

दुश्मन के दिल में मोहब्बत पैदा करने की दुआ – Dushman Ke Dil Mein Mohabbat Paida Karne Ki Dua, Wazifa, Amal, इस्लामी दुआओं में काफी दम होता है। इसका असर लंबे समय तक बना रहता है। उसके लिए कुरान-ए-पाक में बताए गए वजीफे को अगर सही तरह से नियमित तौर पर पढ़ा जाए, तो दुश्मन के दिल में भी मोहब्बत पैदा की जा सकती है। गलत तरीके से नुकसान भी हो सकता है।

पुरानी से पुरानी दुश्मनी हमेशा के लिए खत्म की जा सकती है। जानकार मौलवी से इसके तरीके की जानकारी लेकर दुश्मन के नाम और तस्वीर के साथ अल्लाह से दुआ करनी चाहिए कि उनकी दुश्मनी दोस्ती में बदल जाए।

Dushman Ke Dil Mein Mohabbat Paida Karne Ki Dua

  • इसकी शुरूआत किसी भी दिन प्रातः सात से दस बजे के बीच कर सकते हैं। घर के किसी एकांत कोने में सुकून की जगह पर चादर बिछाएं और वुजू कर बैठ जाएं। बिस्तर चाहे जमीन पर हो या फिर चैकी पर, उसका पाक-साफ होना जरूरी है।
  • दुआ के लिए वजीफा पढ़ने से पहले 11 बार दुरूद शरीफ पढ़ें।
  • उसके बाद कुरान-ए-पाक में दिए गए सुराह युसुफ की आयत 30 के एक छोटा से हिस्से को बिस्मिल्लाह शरीफ पढ़कर 101 मरतबा पढ़ें।
  • आखिर में दुरूद शरीफ को एक बार फिर से 11 बार पढ़ें।
  • इसे पढ़ते समय उस व्यक्ति की तस्वीर जेहन में बिठा लें और अंत में अल्लाह से दुआ करें कि वे उसके दिल में मोहब्बत पैदा करे, ताकि दश्मनी हमेशा के लिए खत्म हो जाए। उसकी तस्वीर पर दम भी कर सकते हैं।
  • यह वजीफा कायदे से 11 दिनों तक लगातार अवश्य पढ़ें। नतीजे नहीं आने पर 21 दिनो तक पढ़ सकते। इसे कोई महिला भी पढ़ सकती है, लेकिन उसे माहवारी के दिनों में परहेज के साथ अल्लाह से दुआ करनी चाहिए।

सास के दिल में मोहब्बत पैदा करने का वजीफा

सास के दिल में मोहब्बत पैदा करने का वजीफा – Saas Ke Dil Mein Mohabbat Paida Karne Ka Wazifa, Dua, Amal, सास और बहू के बीच अनबन का होना बहुत ही साधारण बात है। हर बहू चाहती है कि सास के दिल में उसके प्रति मोहब्बत बनी रहे। ऐसी बहू सास का दिल जीतने की पूरी कोशिश करती है,

लेकिन कई बार नाकामी भी मिलती है। इस स्थिति में इस्लामी वजीफा पढ़कर सास के दिल में मोहब्बत पैदा करने की कोशिश करने से बहू निश्चित तौर पर सफल हो सकती है।

वजीफे को बहुत ही सावधानी बरतते हुए और नियम के साथ पढ़ना चाहिए। वह वजीफा है- वा तम्मत कलिमातु रब्बीका सिद्दकनवा वा अल्ल, ला मुबद्दीला ली कलिमातिह, वा हुवास समीउल अलीम।

Saas Ke Dil Mein Mohabbat Paida Karne Ka Wazifa

माहवारी के दिनों को छोड़कर किसी भी दिन इसकी शुरूआत की जा सकती है। बगैर नागा किए हुए कम से कम 11 दिन या फिर 21 दिनों तक रात को सोने से ठीक पहले वजीफ पढ़ना चाहिए।
सबसे पहले ताजा वुजू बनाकर पहले 11 बार दुरूद शरीफ पढ़ें। उसके बाद ऊपर वर्णित वजीफे को 101 बार पढ़ें।
अंत में एक बार फिर से 11 बार दुरूद शरीफ को पढ़ें। वजीफा पढ़ने के दौरान अपनी सास का ख्याल जेहन में बनाए रखें। साथ में उनके पसंद की किसी चीज पर दम करें और आगले रोज सास को भेंट कर दें। कुछ नहीं हो तो एक पुड़िया चीनी पर ही दम कर उन्हें शरबत बनाकर पिला दें।
Yadi aap chahte hai kisi ladki ya ladka ya koi bhi jiske dil mai aapke liye mohabbat paida ho jaye to hum aaj aapko dege Kisi Ke Dil Mein Mohabbat Paida Karne Ke Liye Wazifa, Dua, Amal.

हर ख्वाहिश के लिए सूरह कौसर का वजीफा

हर ख्वाहिश के लिए सूरह कौसर का वजीफा


हर ख्वाहिश के लिए सूरह कौसर का वजीफा – Har Khwaish Ke Liye Surah Kausar Ka Wazifa, Amal, Dua, हर इंसान के मन मे कोई न कोई ख्वाहिश होती है, आज हम इसके लिए आपके बतायेगे मोहब्बत के लिए सूरह कौसर का वजीफा और दुश्मन के लिए सूरह कौसर का वजीफा। इसके अलावा आप के लिए लाये है औलाद के लिए सूरह कौसर का वजीफा।

Har Khwaish Ke Liye Surah Kausar Ka Wazifa

अगर आप सूरह कौसर का वजीफा करना चाहते हैं।तो हम आपकीखितमत में हाजिर है।वजीफा बेहद ही आसान और पावरफुल है।बहुत ही छोटी सी आयत है इसकी बहुत सीफजीलत है।छोटी सी आयत में पूरे कायनात को समेटा हुआ है बहुत ही फजीलत है।

हर ख्वाहिश के लिए सूरह कौसर का वजीफा

आपका कोई काम ना हो रहा हो तो सूरह कौसर का अमल करें।अपने काम कोआसान करें।इंसान के दिल में एक नहीं हजार ख्वाहिश होती है और उन्हें ख्वाहिशों को पूरा करने के लिए हमें अपनी हर जद्दोजहद कोशिशें करनी चाहिए।

जिससे हम अपनी ख्वाहिशों को पा सके और अपने हाथों में कामयाबी को हासिल कर ले।लेकिन हमको कहीं ना कहीं नाकामी मिल जाए।तो हमें परेशान नहीं होना चाहिए।हमें अपनी ख्वाहिश को नहीं छोड़ना चाहिए।इस ख्वाहिश को हमेशा

अपने दिल में बसाना चाहिए। यही ख्वाहिश एक दिन हम को कामयाब जरूर करती है। ख्वाहिश ही हमारा सबसे बड़ा जुनून है जिसको हमें अपने दिल में रखना चाहिए।हम आपको हर ख्वाहिश के लिए सूरह कौसर का वजीफा बताते हैं

सादा वजीफा है इसकी बरकती बहुतसी है। इसवजीफे को आपको जुम्मे के दिन से शुरू करना है।आप जब तक चाहे इस वजीफे को कर सकते हैं।नमाज पढ़ने के बाद आपको 10 बार सूरह कौसर की तिलावत करनी होगी।

फिर अल्लाह रब्बुल इज्जत की हम्द दो सना करने के बाद अपनी ख्वाहिश के लिए दुआ करनी होगी।इंशाल्लाह आप इस वजीफे से बहुत ही कामयाब होंगे।जुम्मे का दिन बहुत ही फजीलतका दिन है।

मोहब्बत के लिए सूरह कौसर का वजीफा

मोहब्बत के लिए सूरह कौसर का वजीफा – Mohabbat Ke Liye Surah Kausar Ka Wazifa, Amal, Dua, एक रात का वजीफा है।1 दिन ही में आप अपनीमोहब्बत के दिल दिमाग परकब्ज़ा कर लेंगे।उसके दिल में मोहब्बतपैदा हो जायगी। इस वजीफे को लड़की या लड़का किसी की मोहब्बत हासिल करने के लिए करसकते हैं।

लेकिन मकसद नेक होना चाहिए।किसी को परेशान करना या सताना आपका मकसद नहीं होना चाहिए।आपवजीफाखुदकरें।किसी के पास जाने की जरूरत नहीं है खुद ही वजीफा कर सकते हैं।

अपनी किस्मत को खुदआजमाएंअल्लाह के कलाम से सब कुछ मुमकिन है।आपका इरादा पक्का हो तो आपको नाकामी कभी भी नहीं देखने को मिलती।बस आपको अपना इरादा पुख्ता रखना है।

इस वजीफे को करते वक्त आपको नियत पाक रखनी है याकीनकामिल के साथ आप इस वजीफे की शुरुआत करें हैं।अल्लाह ताला के रहमों करम से इंशाल्लाह जरूर कामयाबी हासिल होगी।

Mohabbat Ke Liye Surah Kausar Ka Wazifa

ईशा की नमाज के बाद आपको इस वजीफे को करना है।अव्वल आखिर 11/11 बार आपकोदरूद शरीफ पढ़नी है।आपको बावजू कमरे में अगरबत्ती खुशबू लगाना है।तीन बार अतल कुर्सी पढ़नीहै चारों कुल पढ़कर अपने जिस्म का आसार करने हैं।

साथ ही साथ इजाजत भी हासिल करनीहैं। इस वजीफे के लिए आपको 21 मिर्च लेनी है।अगर कोयले की आग में जाए तो ज्यादा बेहतर है।सारी मिर्चपर मुकम्मल पढ़ाई कर ले।

उसको अपने पास रखना है मिर्च को इकट्ठा जलाना है। 21 मिर्च पर 121 बार सूरह कौसर पढ़ना है और पढ़ कर मिर्च पर दम करना है।जहन में सबर और दुनिया के ख्यालात से पाकरखना है।आप इस वजीफे से जरूर कामयाब होंगे।

दुश्मन के लिए सूरह कौसर का वजीफा

दुश्मन के लिए सूरह कौसर का वजीफा – Dushman Ke Liye Surah Kausar Ka Wazifa, Amal, Dua, वजीफा दुश्मन से हिफाजत करने के लिए है।लेकिन आप इस से एक नहीं कई फायदा उठा सकते हैं।इस आयत की बहुत सारी फजीलत है।यह सूरह कौसर कुरान शरीफ की सबसे छोटी आयत शरीफ है।

बहुत ही मुबारक आयत है आपकी तमाम मुश्किलों को इंशाल्लाह दूर करेगी।अगर आप इस की तिलावत रोजाना करते हैं तो इसकी बहुत सारी फजीलत है इंशाल्लाह आपको यकीनन हासिल होगी। इस मुबारक आयतको अगर आप चाहे तो याद कर ले और जहन में बैठा ले।

और हर वक्त उल्टे बैठते चलते-फिरते पढ़ें इंशाल्लाह हर तरह से आपकीहिफाज़त रहेंगी।अगर आप दुश्मन से बचने के लिए इस वजीफे का अमल करना चाहते हैं।तो वजीफे को तहसील से समझे जिस भी मकसद के लिए आप इस वजीफे को करना चाह रहे उस मकसद को अपने जहन में बिठाले।

Dushman Ke Liye Surah Kausar Ka Wazifa

अपनी हर परेशानियों को इस वजीफे से दूर करें।सिर्फ और सिर्फ 3 दिन का आसान वजीफा है।इसकी मुद्दत 3 दिन की है जुम्मे के दिन से हफ्ते तक करना है यानी जुमेरातजुमहशनिवार।बड़ी से बड़ी परेशानियां इंशाल्लाह दुश्मन से फतेहहोंगी।

जुम्मे रात जब आप फजर की नमाज पढ़ ले।उसके बाद आपको 11/11 मर्तबा दुरु शरीफ और 129 बारसूरह कौसरपढ़नी है।उसी दिन असर की नमाज पढ़ने के बाद दोबारा इसी तरह आपको 11/11 बारदुरु शरीफ129 बार सूरह कौसरपढ़े।

ऐसे ही ईशा की नमाज के बाद 11/11 बारदुरु शरीफ129 बार सूरह कौसरपढ़े।इसी तरह 3 दिन लगातार इसवजीफे को तीनवक्त में करतेरहें।इंशाल्लाह आपका मकसद रद्द नहीं होगा।

औलाद के लिए सूरह कौसर का वजीफा

औलाद के लिए सूरह कौसर का वजीफा – Aulad Ke Liye Surah Kausar Ka Wazifa, Amal, Dua, वजीफा बहुत ही पावरफुल है।एक बार जरूर करें कई बार ऐसा होता है।कि शादी के सालों साल हो जाते हैं और आप औलाद की खुशी से महरुम रहते हैं।

शादीशुदा रिश्ते की कामयाबी और उसको मुकम्मल करने के लिए औलाद बहुत ही बड़ीनेमत है।लेकिन कुछ लोग इस औलाद की नेमत से महरुम रहते हैं।आप परेशान बिल्कुल भी मत होइए।

क्योंकि अल्लाह रब्बुल इज्जत सबको अपनी नेमतों से नवाजने वाला है।अल्लाह पर भरोसा कर आप एक बार वजीफेको करें।अल्लाह कभी भी अपने बंदों को खाली हाथ नहीं रखता। ना ही अपने बंदोंको कभी ना उम्मीद करता है।

वोही हमें दुनिया में लाया है किसी ना किसी मकसद के लिए और इंशाल्लाह वही हमारी परेशानियों को दूर करने वाला है।औलाद को हासिल करने के लिए आपको इस वजीफे को इस तरह करना है।रोजाना 3 बार दरूद इब्राहिमी पढ़ना है।

Aulad Ke Liye Surah Kausar Ka Wazifa

اللهصَلّعلىمُحنَدوعلىالِمُحَقَِدِكماصليتعلىإبراهيموعلىآلإبراهيم } إنكحميدمجيداللهباركعلىمحمدعلىالمکنَدِگهابارگتعلىإبراهيموعلىالابراهيمانكکويدچد

आपको तीन बार दरूदे इब्राहिम पढ़ने के बाद 101 मर्तबा सूरह कौसर पढ़नी है। انااعطيكالكوثرفصللربكاناشانئكهواكتر सूरह कौसर कुरान शरीफ के तीसरे पारे में आपको मिल जाएगी यह बहुत ही छोटी सी सूरह है।

औलाद के लिए आप सूरह कौसर के आसान से वजीफेको एक बार जरूर आजमा कर देखें।अल्लाह के फ्जलो करम से आपको जरूर कामयाबी हासिल होगी।यकीन कामिल के साथ एक बार इस वजीफे को करें।