शोहर को अपनी तरफ करने का वजीफा और दुआ Update 2023

शोहर को अपनी तरफ करने का वजीफा और दुआ

शोहर को अपनी तरफ करने का वज़ीफ़ा और दुआ , “देखा गया है कि कुछ शोहर अपनी बेगम का कहना नहीं मानते और सिर्फ अपने मन का काम करते रहते हैं या अपनी अम्मी या अब्बू की सुनते रहते हैं। लेकिन बेगम चाहती है कि उनका शोहर उनकी भी सुने और जिस इंसान के लिए वो सब कुछ भूल कर सब कुछ छोड़ कर उसके पास आयी है कम से कम वो शक्श तो उसकी सुने।

शोहर को अपनी तरफ करने का वज़ीफ़ा

तो दोस्तों आज का वज़ीफ़ा मेरी उन्ही बहनो के लिए है जो अपने शोहर को पाक तरीके से अपनी तरफ करना चाहा रही हों। तो सबसे पहले तो अगर आप चाहा रही हैं कि आपका शोहर सिर्फ आपकी ही सुने आप कहो दिन तो दिन कहे आप कहो रात तो रात कहे तो ऐसा तो संभव नहीं हो सकता। बस वो आपको समझे और आपकी कदर करे। तो निचे में १ वज़ीफ़ा बताने जा रहा हूँ। बिना इजाजत के कोई भी अमल नहीं करना चाहिए क्योंकि उसमे कामयाबी नहीं मिल सकती। अमल करने से पहले इजाजत जरूर ले लें।

  • देखिये आपको सबसे पहले कुछ सामान ले आना है।
  • उसके बाद इस अमल को करना है।
  • सामान में आपको ३ काली मिर्च ३ लॉन्ग १ दाना अजवायन का ले लेना है।
  • एक हरा कपडा निचे बिछाने के लिए ले आना है।
  • एक अगरबत्ती, एक धुपबत्ती का पैकेट ले आना है। कुछ मीठी चीज ले आनी है जैसे मखाने, बतासे, या फिर कोई भी मिठाई।
  • सबसे पहले आपको एक दिन मुकर्रर कर के नहा कर पाक साफ हो जाना है।
  • उसके बाद एक दिन अपने शोहर की नजर उतारनी है।
  • नजर उतारने के लिए आपको ३ काली मिर्च सीधे हाथ में रखनी है, ३ लोंग और एक अजवायन को उलटे हाथ में रखना है।
  • उसके बाद दोनों हाथ को शोहर के ऊपर से वार कर उस पर थोड़ा सा थूक कर गन्दी नाली में बहा देना है।
  • उसके बाद अपने कमरे में जहाँ आप सोते हैं वहां हरे रंग का कपडा बिछा कर सामने धुप और अगर बत्ती जला लेनी है, और मीठी चीज को किसी कटोरी में रख देना है।
  • फिर आप को ये दुआ पढ़नी है :- “कुल हुवल्लाहु अहद या हंनानुल्लाह हुस्समद या मन्नान लमयालिद वलम यूलड़ वलम यकूलल्हु कुफुवन अहद“
  • दुआ को ४७ मर्तबा हर हफ्ते के दरमियान किसी एक दिन, ४७ दिनों तक पढ़ना है बिच में दुआ रोकनी नहीं है।
  • फिर आपको वो मीठी चीज अपने शोहर को उसी दिन खिला देना है, मीठी चीज आपको सिर्फ ३ दफा खिलानी है, एक दफा जब वज़ीफ़ा शुरू करें तब, दूसरा जब आपके शोहर का मूड सही हो तब, और आखिरी में जब ४७ दिन पुरे हो जाएँ तब।

शोहर को काबू करने का अमल और वज़ीफ़ा

जैसे ही ४७ दिन पुरे होंगे, जब भी आपको अपने शोहर को आजमा कर देखना है तो एक दफा अल्लाह से वो फरियाद करनी है फिर अपने शोहर से वो बात कहनी है। आपका शोहर आपकी तरफ से बोलेगा। जैसा आप कहेगी वैसा ही आपका शोहर करेगा। जहाँ आपकी और दूसरों की बात चुनने की बात होगी वहां आपके शोहर आपका साथ देंगे। हर जगह आपका ही साथ देंगे एक तरह से वो आपकी तरफ हो जाएंगे।

शोहर को सिर्फ 3 दिन में अपना बनाने का वज़ीफ़ा

अगर आप अपने पति को सिर्फ ३ दिन में कण्ट्रोल में करना चाहते हैं तो एक सिंपल सा अमल कर लें। अमल ऐसा है की आपको अपने पति की फोटो निकलवा कर, तस्वीर का मुँह ऊपर की तरफ करके उस पर कोई भारी चीज रख दें जैसे ईंट। मात्र ३ दिनो में आपका पति आप कण्ट्रोल में हो जायेगा। (आप पढ़ रहे हैं : शोहर को अपनी तरफ करने का वज़ीफ़ा और दुआ)।

Related Posts