शादी का रिश्ता पक्का करने का अमल Update 2023

शादी का रिश्ता पक्का करने का अमल

आजकल कुछ लोग दिल के इतने खराब होते हैं। जब वह लड़का या लड़की को शादी के लिए देखने आते हैं, फिर कोई बहाना बनाकर रिश्ते से मुकर जाते हैं। वह किसी की फीलिंग को नहीं समझते। शादी का रिश्ता पक्का करने का अमल आज मैं आपको बताने जा रहा हूं, आज मैं उन लड़की- लड़के का रिश्ता पक्का करने का अमल लाया हूं, जिनकी शादी के रिश्ते में अड़चन पैदा होती है, इस अमल और वजीफा से आपकी शादी का रिश्ता पक्का हो जाएगा।

हम आपको एक शादी के रिश्ते या मंगनी पक्की होने वाला ताबीज और अमल देंगे। उस अमल या तावीज़ात को पहनकर आपकी शादी की हर बंदिश दूर हो जाएगी और अल्लाह की रहमत होने लगेगी। यह अमर रिश्ते की बंदिश को दूर करने का है। अपनी शादी का रिश्ता पक्का करने की मुराद हर लड़का लड़की की होती है। अमल को फैमिली मेंबर के सामने भी कर सकते हैं पर और किसी के सामने आप ना करें तो बेहतर होगा।

मंगनी पक्की होने का अमल

कुछ लड़के या लड़की शादी का रिश्ता तो पक्का हो जाता है पर मंगनी पक्की होने में टाइम लगता है। इस टाइम को बचाने के लिए और मंगनी पक्की करने के लिए आप इस अमल का इस्तेमाल कर सकते हैं। जल्दी आपकी मंगनी पक्की हो जाएगी। मंगनी पक्की होने तक 21 दिन बाद आपकी शादी की तारीख भी फिक्स हो जाएगी। यह अमल बहुत ही कारगर है और सरल अमल है। इससे आप आसान तरीके से अपनी मंगनी पक्की कर सकते हैं।

रिश्ता टूटने से बचने के लिए अमल

रिश्ता दो दिलों का मेल होता है और रिश्ता एक बार टूट जाता है, फिर सिर्फ अमल से ही जोड़ा जा सकता है। टूटे हुए रिश्ते को बदलना ही अमल का काम है। शादी से पहले और शादी के बाद रिश्ता टूटने से बचाने के लिए आप इस अमल को कर सकते हैं। इंशाल्लाह इस अमल से आपका रिश्ता कभी नहीं टूटेगा। इस अमल का एक और फायदा यह है कि यह अमल हस्बैंड वाइफ के बीच की दूरी को खत्म करता है और रिश्ता टूटने से बचाता है।

शादी का रिश्ता पक्का करने का अमल कुछ इस प्रकार है

  • सबसे पहले एक चिराग ले लेना है।
  • उसमे चमेली या असली देसी घी डालनी है और थोड़ी कच्ची खांड डालनी है और चिराग जला लेना है।
  • थोड़ा लोबान लें इसमें मोतिया अच्छा वाला १०० डाल कर मिलाना है।
  • इसका दिन नौचंदी या हफ्ता या इतवार को करे।
  • हराम के लिए इस अमल को ना करें वार्ना पछतायेगा।

रिश्ता पक्का होने की दुआ

“मुख मोहनी बरमा जाल वही जगाय सर को काल।” अगासी था की चन्दे चाहे थाक पीला दूँ पाँव तले पड़ जा आसोई हमें तुम्हे हमें एक खाट बैठना लाख मोहनी ठाकरी करे सलाम जारी-जारी-जारी।

Related Posts