निकाह के लिए वज़ीफ़ा Update 2023

निकाह के लिए वज़ीफ़ा

निकाह के लिए दरूद शरीफ का वज़ीफ़ा,”जिनकी शादी नहीं हो रही होती है, वह लोग बेहतरीन वजीफा की तलाश करते हैं। शादी का लड्डू जो खाए वह पछताए और जो न खाए वह भी पछताए। इस वजीफा को 1 हफ्ते तक करने के बाद आपके रिश्ते आने लग जाएंगे शादी की हर बंदिश दूर हो जाएगी। निकाह दो दिलों का अरमान होते हैं, निकाह के लिए दरूद शरीफ का वजीफा है।

निकाह के लिए दरूद शरीफ का वज़ीफ़ा

निकाह में लड़का लड़की अपनी सभी मन की इच्छा पूरी करते हैं। जब बचपन में किसी दूल्हा दुल्हन वाला खेल खेलते हैं, तब से ही लगता है कि हमारी भी शादी होगी हमारा भी दूल्हा हो गया दुल्हन होगी।

किसी कारण से लड़का या लड़की का निकाह नहीं हो पा रहा हो। हर कोशिश करने के बाद भी रिश्ते टूट रहे हो तो इसे निकाह की बंदिश कहा जाता है। निकाह की बंदिश का तोड़ दरूद शरीफ के वजीफा से हो सकता है। हर वजीफा करने से पहले आप को पाक साफ होना जरूरी है। वजीफा की खासियत यह है कि घर में किसी को बिना बताए करना होगा। अगर किसी को जरा सा भी पता चल जाएगा तो आप का वजीफा करना खराब हो जाएगा।

वजीफा ए तरकीब दरूद शरीफ :
अल्लाह रहमान ए रहीमन
कुल हू अल्लाह अहद
अल्लाह हु समद
इल्म यलद ओलाम योलाद
ओलाम यकन लह अहद।

निकाह के लिए दरूद शरीफ का वज़ीफ़ा

दोस्तों अगर आप की शादी नहीं हो रही है। शादी के रिश्ते आना बंद हो गए हैं तो कुछ आसान उपाय को करने के बाद इंशाल्लाह आप की शादी जल्दी हो जाएगी।

  • पहला उपाय यह है कि रोज सुबह नहाने वाले पानी में एक चुटकी हल्दी डालकर नहाना है जिससे आपकी शादी में जल्दी होगी।
  • दूसरा उपाय यह है कि हमेशा अपने साथ पीला रंग का रुमाल अपने साथ रखना है।
  • जब लड़का या लड़की जिनकी शादी नहीं हो रही है तो वह यदि किसी शादी में जा रहे हैं तो अपने हाथों में थोड़ी सी मेहंदी दूल्हा दुल्हन से लगवा ले।
  • जिस लड़के या लड़की की शादी नहीं हो रही हो तो जागो सोते हैं उस बेड के नीचे कुछ ना कुछ रखें और हो सके तो कुछ लोहे का रखें।

पसंद की शादी के लिए वजीफा

अगर लड़का और लड़की एक दूसरे से मोहब्बत करते हैं। अपनी पसंद की शादी करना चाहते हैं। उनकी शादी में उनके ही घर वाले रुकावट पैदा कर रहे हैं। लड़का या लड़की वजीफा को करें 21 दिन के भीतर आपके घर वाले ही आपकी पसंद की शादी आपकी पसंद की जगह करवा देंगे। लड़का और लड़की के वालिद शादी के लिए राजी हो जाएंगे। फिर आपको ही तय करना है कि शादी की तारीख किस दिन रखी जाए।

पसंद की शादी के लिए दुआ ये है

“व लम्मा द-ख-लू मिन हयसु अमरहुम अबुहुम मा काना युग्नी अन्हुम मीनल्लाही मिन शयइन।”

Related Posts